3 Types Of Income In Hindi – [ आय के प्रकार ]

आज सबसे बड़ा प्रॉब्लम बेरोजगार तथा इनकम ना कर पाना । इनकम करते भी हैं तो खुश नहीं है, जिंदगी भर सुबह काम पर जाओ शाम लोटो फिर अगले दिन वही रूटीन । एक कहावत है  ” जितना बड़ा सोचो उतना बड़ा पाव ” व्यक्ति कोई भी काम करें इनकम या आय के प्रकार [ Types of income in Hindi ] बारे में पूरा जानकारी होना चाहिए ।

3 Types of income in hindi - [ आय के प्रकार ]

दो प्रकार कामों [ Types Of Income In Hindi ] के ऊपर इनकम करते हैं Hard Work और Smart Work। आज इस पोस्ट में इनकम कितने प्रकार के होता है? अमीर लोग और अमीर, गरीब लोग गरीब क्यों बनते चले जा रहा है ? यह प्रश्न का उत्तर आज विस्तृत रूप से जानेंगे।

इनकम के बारे में जानने से पहले इनकम और इनकम सोर्स मैं अंतर क्या है जानना होगा।

इनकम आप कोई भी राशि को बोल सकते हैं क्यों ना वह राशि लॉटरी से मिला हो।

इनकम सोर्स उसे कहते हैं कुछ टाइम अंतराल में पैसा आते रहते हैं उसे इनकम सोर्स कहते हैं जैसे नौकरी का सैलरी।

आय के प्रकार – Types Of Income In Hindi

Types Of Income Active

Active Income: कहते हैं जितना देर तक आप काम करोगे उतना देर तक आपको पैसे मिलेगा यानी काम करने वक्त आपको Present रहना पड़ेगा। एक्टिव इनकम करके कोई अमीर नहीं बन सकता सिर्फ जिंदगी को कटा सकते हैं।

यदि ज्यादा काम करने से अमीर होता तो मजदूर लोग सबसे पहले अमीर होता, अमीर बनने के लिए ज्यादा काम नहीं स्मार्ट तरीके से काम करने से अमीर होता है।

एक्टिव इनकम के उदाहरण – Salaries, Commission, Bonus, Services.

उदहरण के लिए – नौकरी करने वाले लोग महीने में 15000 हजार तनखा मिलते हैं 1 साल में 12×15000 = 1,80,000 हजार। मान लीजिए 40 साल तक नौकरी करता है 40×180000 = 72 लाख रुपए लाइफ में इनकम करता है। यह नौकरी करने वाले लोग सिर्फ एक मकान, गाड़ी , और अपनी बच्ची को पढ़ाई लिखाई करने का क्षमता रहता है और कुछ भी नहीं।

नौकरी अलावा बहुत लोग अलग-अलग काम करते हैं और उनका मंथली इनकम इन से कम या थोड़ा ज्यादा हो सकता है आपको अभी यह सोचना है ज्यादा पैसा और आराम दोनों मिल रहे कि नहीं नहीं मिल रहा है तो वह एक्टिव इनकम के अंदर पड़ता है।

Types Of Income Passive

Passive income – उसे कहते हैं एक बार काम करके बार-बार पैसे मिले, पैसे कमाने के लिए आपको present नहीं रहना पड़ेगा। पैसिव इनकम करना आसान है थोड़ा आईडिया होना चाहिए।

पैसिव इनकम एक उदाहरण के माध्यम से समझेंगे —

एक गांव में पानी समस्या के कारण सभी लोग परेशान होते थे। राम और मुहिम दोनों फ्रेंड मिलकर दूर तलब से बाल्टी में पानी भरकर गांव में बेचता था, दिन रात मेहनत करके थोड़ा पैसा होता था। अचानक एक दिन राम बीमार पड़ गया और घर में गरीबी दिखाई दिया। राम चंगा होने के बाद मुहिम को बोला – इस तरह काम करेंगे तो मेहनत ज्यादा पैसा कम है। कुछ भी हो जाता है तो पैसा कमाना बंद हो जाएगा।

जो भी पैसा कमा रहा हूं दोनों मिलकर थोड़ा थोड़ा पैसा बचा कर तलब से गांव तक पाइप बिछा देंगे ऐसा करने से पानी लेने के लिए तलब तक बाल्टी भर भर कर ले आना नहीं पड़ेगा। मुहिम को यह अपॉर्चुनिटी अच्छा नहीं लगा जो पैसा कमा रहा था उसी से खुश था।

राम बहुत कठिनाई सामना करके तलब से गांव तक पाइप बिछा दिया और ऑटोमेटिकली पानी आना शुरू हो गया। अभी राम कम रेट में ज्यादा पानी बेचता है और मुहिम का बिजनेस बंद हो जाते हैं क्योंकि इतना पानी कम रेट में दे नहीं पाता।

कहानी के माध्यम से क्या सीखा एक बार काम करके बार-बार पैसे मिले उसी को पैसिव इनकम कहते हैं। पैसिव इनकम बहुत प्रकार के होते हैं जैसे कि –

Blogging: प्रेजेंट टाइम ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म इतना पॉपुलर है आपका पैसिव इनकम करने का अपॉर्चुनिटी हो सकता हैं। ब्लॉगिंग के माध्यम से आप अपना भावना विचर नॉलेज को शेयर कर सकते हैं दूसरे के साथ। ब्लॉग साइट के अंदर एडवर्टाइजमेंट लगाकर आप पैसिव इनकम कर सकते हैं।

YouTube: World Largest Second Social Platform YouTube। आपके अंदर कोई क्रिएटिविटी है उसे वीडियो बनाकर आप यूट्यूब में पैसिव इनकम कर सकते हो।

Multi Level Marketing: मार्केट में बहुत मल्टी लेवल मार्केटिंग कंपनी अवेलेबल है डिसटीब्यूटरशिप लेकर आप काम कर सकते हैं और अपना लेवल के हिसाब से आप अपना इनकम उन्नति कर सकें।

Business: बिजनेस करने से पहले ऐसा बिजनेस स्ट्रक्चर करने की सोचें आप ना रहे तो भी बिजनेस का काम चलता रहे इसे आप का पैसिव इनकम जनरेट होगा।

Affiliate Marketing: एफ्लैट मार्केटिंग आपके लिए पैसिव इनकम करने का अच्छा सोर्स हो सकते हैं। Online And Offline मार्केट में बहुत प्रोडक्ट अवेलेबल है जिसको एपलेट करके आप 4%-20% तक कमीशन मिलता है। उदाहरण – Amazon Affiliate, Theme, Web Hosting, Medicine Etc..

Royalty Income: रॉयल्टी इनकम है आपने कुछ लिखा, गया या अविष्कार किया उन प्रोडक्ट जितना कॉपी बिकेगा उतना आप उस प्रोडक्ट के ऊपर % यानी रॉयल्टी इनकम मिलेंगे। सबसे ज्यादा रॉयल्टी इनकम करता है writer, singer & scientist।

Types Of Income Portfolio

Portfolio Income: पोर्टफोलियो इनकम पैसिव इनकम की एक पार्ट है, पोर्टफोलियो इनकम में पैसे से पैसे कमाने की एक प्रक्रिया।

जैसे कि आपके पास कोई पैसा घर में एक्स्ट्रा, सेविंग अकाउंट में जमा पड़ा है या ऐसी जगह है जहां आपका पैसे का कोई काम नहीं इस मामले में आपका पैसा आप शेयर मार्केट, मिचल फंड, फिक्स्ड डिपॉजिट, ब्रांडिंग, करेंसी एक्सचेंज करके पैसा दुगना कर सकते हैं।

Mutual Fund And Shares: आप मार्केट एनालाइजर एक्सपर्ट है तो शेयर मार्केट के साथ जा सकते नहीं तो आप हमें Mutual Fund मे interest करें। Online And Offline Mutual Fund अकाउंट खोलकर इन्वेस्ट कर सकते हैं। Best Online Mutual Fund Application – Groww Mutual Fund And Paytm Mutual Fund…

Invest Government: गवर्नमेंट इन्वेस्टमेंट एंड फाइव स्टार संस्था के ऊपर अपना पैसा इन्वेस्ट करते हैं तो 7% से लेकर 10% तक प्रॉफिट मिल जाता है।

Currency Buy And Sell: रूपए से डॉलर खरीदते हैं, जब डॉलर की कीमत बढ़ जाते हैं तब सेल करने से आपका प्रॉफिट अच्छा होगा।

प्रत्येक व्यक्ति को इनकम या आय के प्रकार [ Types Of Income In Hindi ] के बारे में जानना चाहिए जिंदगी में बेहतर करने के लिए। आपको या Article कैसा लगा कमेंट करना ना भूलें और फ्रेंड के साथ शेयर करें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *